News Port 24×7

ADVT

 Breaking News

ADVT

ADVT
June 17
12:43 2013

 

जिलाधिकारी दीपक रावत ने शनिवार को पन्ना लाल भल्ला इण्टर काॅलेज का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने अध्यापकों की उपस्थिति पंजिका, मिड डे मील, टाॅयलेट, बिजली, पानी आदि के साथ कक्षाओं एवं लैब की व्यवस्थाओं को देखा। जिलाधिकारी ने कक्षा के निरीक्षण के दौरान पाया कि अध्यापकों द्वारा विद्यालयी शिक्षा उत्तराखण्ड कर पुस्तकों के बजाय गाइडों के माध्यम से पढाया जा रहा था। जिस पर उन्होंने प्रधानाचार्य एवं सम्बन्धित अध्यापकों को चेतावनी दी कि विद्यालयी शिक्षा द्वारा निर्धारित पुस्तकों से ही अध्ययन एवं अध्यापन कार्य किया जाए। इसके बाद भी यदि कोई अध्यापक गाइड के माध्यम से पढ़ाते हुए पाया गया तो उन पर कार्यवाही की जायेगी। जिलाधिकारी ने हिदायत दी कि एन.सी.ई.आर.टी द्वारा निर्धारित सिलेबस के आधार पर ही अध्यापन कार्य किया जाए एवं टीचर डायरी मेंटेन रखी जाए। उन्होंने कहा कि बच्चों को कोर्स की किताबंे उपलब्ध कराने के लिए स्कूल परिसर में बुक स्टाॅल लगाया जाए। टाॅयलेट के निरीक्षण के दौरान टाॅयलेट में गंदगी, अनावश्यक पानी की बर्बादी, साबुन, जग एवं आवश्यक सामग्रियों की कमी पाये जाने पर उन्होंने प्रधानाचार्य को सभी व्यवस्थाएं करवाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा टाॅयलेट की सफाई व्यवस्था, संसाधनों की कमी, अनावश्यक पानी के लिकेज, बिजली पानी की व्यवस्थाओं की कमियों को शीघ्र दूर किया जाए। दोबारा निरीक्षण के दौरान कोई कमी पायी गयी तो सम्पूर्ण जिम्मेदारी प्रधानाचार्य की होगी। इस अवसर पर उन्होंने बच्चों के स्वास्थ्य कार्ड एवं स्वास्थ्य परीक्षण के बारे में भी जानकारी ली। मध्याहन भोजन की व्यवस्थाओं का भी जिलाधिकारी ने निरीक्षण किया। सही व्यवस्थाएं पाये जाने पर संतोष व्यक्त किया। रसायन प्रयोगशाला के निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने बच्चों से रासायनिक प्रयोगों के बारे में जानकारी ली इसके अलावा विभिन्न कक्षाओं में छात्र-छात्राओं से सामान्य प्रश्न पूछे एवं शिक्षण गतिविधियों की प्रमुख समस्याओं के बारे में भी जानकारी ली।

 

About Author

admin

admin

Related Articles

0 Comments

No Comments Yet!

There are no comments at the moment, do you want to add one?

Write a comment

Write a Comment